Smoking harmful-धूम्रपान से होने वाले बीमारी

 सावधान
धूम्रपान हानिकारक इससे बचें
Smoking harmful


 Excessive smoking causes health damage Smoking harmful / अत्यधिक धूम्रपान से स्वास्थ्य को नुकसान होता है धूम्रपान हानिकारक है।

(More information)
Online income for social media

Video maker app

पुरुषों और महिलाओं के सिगरेट पीने से हार्मोन की कार्यप्रणाली संक्रमण होता है  धूम्रपान से महिलाओं में एट्रोजन का स्तर कम हो जाता है जिसके कारण हड्डियों का घनत्व कम हो जाता है और ऑस्टियोपोरोसि की आशंका बढ़ जाती है दोस्तों आजकल लोग धुम्रपान या शराब का सेवन देखा देखी कर रहे हैं आपको बता दें कि बहुत से लोग शौक के कारण धूम्रपान अपना लेते हैं उसमें महिलाओं भी शामिल होती है लेकिन पुरुष महिला दोनों का हारमोंस अलग अलग होता है उसी प्रकार से दोनों में अलग-अलग तरीके का असर होता है ज्यादातर पुरुष को देख कर महिलाएं सीक्रेट बिना शौक बना देती है कुछ ऐसे पुरुष भी होते हैं जो दोस्त लड़कियों को भी सिखा देता है लेकिन शौक शौक में पीने वालों सीक्रेट याद धूम्रपान कुछ दिन में आदत बन जाता है और वह हमेशा पीना चालू कर देते हैं

एक दिन में 20 से अधिक सिगरेट पीने वाले कई धूम्रपान करने वालों में शुक्राणुओं की कमी देखी गई है  साथ ही ऐसे लोगों में इरेक्टाइल डिसफंक्शन का खतरा भी 60 प्रतिशत तक होता है।  एक अध्ययन के अनुसार मधुमेह, उच्च रक्तचाप और उच्च कोलेस्ट्रॉल आदि भी ईडी समस्या के लिए जिम्मेदार कारकों में से हैं आईएमए के अनुसार, धूम्रपान स्खलन शुक्राणुओं की संख्या और शुक्राणु की गुणवत्ता को भी कम करता है।

 इरेक्टाइल डिसफंक्शन का अर्थ है पुरुष गोनाड में पर्याप्त तनाव और उत्तेजना की कमी।  इस विकार का कारण शारीरिक और मनोवैज्ञानिक दोनों हो सकता है।  ईडी आमतौर पर अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का संकेत है

 इस संबंध में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के अध्यक्ष ने कहा कि पुरुषों में यौन उत्तेजना मस्तिष्क हार्मोन भावनाओं नसों मांसपेशियों और रक्त वाहिकाओं को शामिल करने वाली एक जटिल प्रक्रिया है।  जब कोई समस्या होती है, तो ईडी हो सकता है।  तनाव और मानसिक स्वास्थ्य चिंताएं समस्या को और बढ़ा सकती हैं

 मेडिकल समस्याएं अधिक वजन, प्रोस्टेट सर्जरी या कैंसर, चोटों, अवसाद दवाओं, मनोवैज्ञानिक स्थितियों और अत्यधिक शराब का सेवन भी ईडी समस्या को और गंभीर बना सकते हैं।  उन्होंने बताया कि ईडी से पीड़ित लोग जीवनशैली में बदलाव करके अपनी सेक्स लाइफ को बेहतर बना सकते हैं।  इसके लिए धूम्रपान छोड़ना, वजन कम करना और व्यायाम करना आवश्यक है इससे रक्त प्रवाह में सुधार होता है।  किसी भी दवा से साइड इफेक्ट के मामले में, डॉक्टर की सलाह से कोई अन्य दवा ली जा सकती है।